जिले के बारे में

बोकारो जिला का संक्षिप्त इतिहास

बोकारो जिला का निर्माण दिनांक 1 अप्रैल, 1991  को तत्कालीन धनबाद जिले के चास और चंदनकियारी प्रखंड तथा गिरिडीह जिले के पूरे बेरमो अनुमण्डल को विलय कर गठित किया गया। बोकारो जिला के पूर्व में धनबाद जिला  तथा पश्चिम बंगाल राज्य के कुछ अंश, पश्चिम में रामगढ़ जिला, दक्षिण में पश्चिम बंगाल के पुरुलिया जिले तथा उतर में गिरिडीह, हजारीबाग और धनबाद अवस्थित है।. बोकारो जिले का  अक्षांश – 23o26 “23o57”  उत्तर, देशांतर –  85o34 “86o26” पूर्व तथा समुद्र तल से 210 मीटर पर  अवस्थित है।

मानभूम जिले की सैंटेलमेन्ट रिपोर्ट, 1928 में  जिला गजट धनबाद, 1964  नवनिर्मित बोकारो जिले की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि ज्ञात करने हेतु कुछ उपलब्ध स्रोत है। बोकारो जिले के विशेष रूप से तथ्य के सम्बंध में अधिक जानकारी उपलब्ध नहीं है।

राज्य पुनर्निर्माण आयोग की सिफारिश पर धनबाद जिला 24.10.1956 को बनाया गया था। धनबाद के तत्कालीन जिले में दो अनुमंडल होते थे, अर्थात् धनबाद सदर एवं बाघमारा। 01.04.1991 को चास  के नाम से जाना जाने वाला बाघमारा अनुमंडल बोकारो जिले का हिस्सा बन गया।